Friday, February 23, 2024

Magh Vinayak Chaturthi 2024 in february Date Puja time ganesh Jayanti Kab…

Magh Vinayak Chaturthi 2024: विनायक चतुर्थी को कई जगहों पर वरद चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है, माघ महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी मनाई जाती है, सालभर में यही वो दिन है जब गणेश जयंती भी मनाई जाती है.

दक्षिण भारतीय मान्यता के अनुसार इस दिन भगवान गणेश का जन्म हुआ था. मान्यता है इस दिन गौरी पुत्र गणेश जी की पूजा करने से शिक्षा प्राप्ति, बुद्धि दोष, करियर में आने वाली परेशानियां दूर हो जाती है. जानें इस साल माघ विनायक चतुर्थी, गणेश जयंती 2024 की डेट, पूजा मुहूर्त और महत्व.

Also READ  Weekly horoscope 18 to 24 february 2024 Libra to pisces saptahik rashifal...

माघ विनायक चतुर्थी 2024 डेट

माघ विनायक चतुर्थी 13 फरवरी 2024 को है. इसी दिन गणेश जयंती मनाई जाएगी. कुंभ संक्रांति भी इसी दिन है. माघ शुक्ल गणेश जयंती को मुख्यतः महाराष्ट्र व कोंकण के तटीय क्षेत्रों में मनाया जाता है. भारत के अन्य क्षेत्रों में भाद्रपद माह में आने वाली चतुर्थी को गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है.

माघ विनायक चतुर्थी 2024 मुहूर्त

पंचांग के अनुसार माघ शुक्ल चतुर्थी तिथि 12 फरवरी 2024 को शाम 05.44 पर शुरू होगी और समापन 13 फरवरी 2024 को दोपहर 02.41 पर होगा.

  • मध्याह्न गणेश पूजा मुहूर्त – सुबह 11:29 – दोपहर 01:42
  • अवधि – 02 घण्टे 14 मिनट्स
  • वर्जित चन्द्रदर्शन का समय – सुबह 09:18 – रात 10:04

माघ विनायक चतुर्थी

गणेश जी बुद्धि, शुभता के देव हैं। इनकी कृपा से जीवन में शुभता आती है, व्यक्ति को विघ्न-बाधाओं से मुक्ति प्राप्त होती है. गणपति जी की पूजा से मां लक्ष्मी की कृपा भी बरसती है क्योंकि बप्पा देवी लक्ष्मी के दत्तक पुत्र हैं. गणेश जयंती पर बप्पा को प्रसन्न करने के लिए आज गणेश चालीसा और गणपति स्तोत्र का पाठ करें. इस दिन आप गणेश मंदिर जाकर उन्हें गुड़ का भोग लगाएं. ऐसा करने से गणपति के साथ माता लक्ष्मी भी प्रसन्न होंगी.

Holashtak 2024 Date: होलाष्टक 2024 में कब से शुरू हो रहे हैं ? जानें डेट, 8 दिन तक नहीं होंगे मांगलिक कार्य

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular