Sunday, February 25, 2024

China World Deepest Largest Underground Lab 2.5 Km Below Ground What Is The…

Deepest lab on Earth: चीन आए दिन दुनिया को अपने हैरतअंगेज कारनामों से चौंकाता रहता है. कभी आसमान में मानव निर्मित सूरज बनाने की कोशिश करता है तो कभी चांद पर बस्तियां बसाने की बात कहता है. अब चीन ने दुनिया की सबसे गहरी प्रयोगशाला बनाई है. इसकी गहराई 2400 मीटर है यानी धरती से करीब 2.5 किलोमीटर नीचे है. चीन ने इस प्रयोगशाला में काम करना भी शुरू कर दिया है. चीन दावा कर रहा है कि धरती की गहराई में वह ‘डार्क मैटर’ की तलाश में गया है. 

डार्क मैटर वैज्ञानिकों के लिए आज भी रहस्य बना हुआ है. माना जाता है कि पूरी दुनिया डार्क मैटर से बनी है. वैज्ञानिक मानते हैं कि डार्क मैटर और डार्क एनर्जी की वजह से ही पूरा यूनिवर्स एक क्रम में बंधा हुआ है. इसके अलावा वैज्ञानिकों ने माना है कि चांद, तारों, सूरज और ग्रहों के बीच का तालमेल भी डार्क मैटर की वजह से है, क्योंकि पूरे यूनिवर्स में इतना गुरुत्वाकर्षण है ही नहीं कि वो सभी ग्रहों, तारों, सूरज, चांद को एक ऑर्बिट में बांध सकें.

Also READ  Pakistan-Afghanistan Dispute Afghanistan threatened to divide Pakistan into...

माना जाता है कि डार्क मैटर ऐसे पदार्थों से बना है जो न तो रोशनी को अपनी ओर खींचते हैं और न ही उनसे रोशनी निकलती है. पिछले साल अमेरिका में डार्क मैटर की खोज के लिए लक्स जेप्लिन एलजेड नाम का एक प्रयोग किया गया था. 

Also READ  Alexei Navalny Cause of Death KGB Vladimir Osechkin Vladimir Putin

चीन कर रहा डार्क मैटर की खोज

गुरुवार को चीन की सरकार समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने जानकारी दी है कि चीन धरती के नीचे जिस प्रयोगशाला में काम कर रहा है, उसका नाम जिनपिंग लैब है और उसे बनाने में तीन साल का समय लगा. 

चीनी मीडिया के मुताबिक, डार्क मैटर की खोज के लिए दुनियाभर में अभी चीन से मुफीद जगह नहीं है, क्योंकि उनके पास सबसे उन्नत प्रयोगशाला है. इस लैब से धरती की गहराई में प्रयोगों के नए मोर्चे खुलने की उम्मीद है.

Also READ  India Maldives Relations Mohamed Muizzu Narendra Modi China financial aid...

धरती के नीचे क्यों हो रही है खोज?

सिंघुआ के भौतिक विज्ञानी ने कहा कि हम जितनी गहराई में जाएंगे हम उतनी ही कॉस्मिक किरणों को रोक सकेंगे. इस वजह से ही गहराई में बनी हुई लैब डार्क मैटर का पता लगाने के लिए एक आदर्श ‘अल्ट्रा-क्लीन’ साइट मानी जाती है.

ये भी पढ़ें:
Who Is Samir Shah: कौन हैं भारतीय मूल के समीर शाह? जिन्हें ब्रिटेन सरकार बनाने जा रही BBC का नया चेयरमैन

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular